Spirulina Benefits For Skin in Hindi | Spirulina Ke Fayde

स्पिरुलिना क्‍या होता है – What is Spirulina in Hindi 

स्पिरुलिना एक जल में पाया जाने वाला वनस्पति (एल्गी) है। यह ताजे एंव प्राकृतिक जल स्त्रोतों में पाया जाता है। यह दुनिया के सबसे पौष्टिक खाद्य पदार्थों में से एक है। इसी कारण से लोग इसे सुपरफ़ूड के नाम से जानते हैं। स्पिरुलिना एक नीला-हरा शैवाल होता है। जिसका स्वाद एंव गंध तेज होती है।  

स्पिरुलिना ( Spirulina ) एक सम्पूर्ण प्रोटीन युक्त आहार है, इसमें सभी आवश्यक तत्व जैसे की अमीनो एसिड (amino acids ) और ओमेगा-3 फैटी एसिड (omega -3 fatty acids ) पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें B vitamins and iron जैसे पौषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसी कारण से ये शाकाहारी लोगों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।  

त्वचा के लिए स्पिरुलिना के संभावित लाभ – Potential benefits of spirulina for the skin 

spirulina पर किए गए अध्ययनों के आधार पर हम कह सकते हैं की यह कई तरीकों से आपकी त्वचा के लिए बेहद लाभकारी सिद्ध हो सकता है।  

क्योंकि स्पिरुलिना से आपकी आँतें एकदम स्वस्थ रहती हैं  जिसके फलस्वरूप सीधा आपकी त्वचा को फायदा मिलेगा। तो आईए आगे चलते हैं और जानते हैं- त्वचा के लिए स्पिरुलिना के फायदे   (spirulina benefits for skin in Hindi) 

Spirulina For Anti-aging in Hindi  

स्पिरुलिना anti-aging and anti-inflammatory गुणों से रहित होती है, तथा इसमें कई एंटीऑक्सिडेंट (antioxidants) भी शामिल हैं। 

“स्पिरुलिना free radicals से लड़ती है और इसलिए यह त्वचा को होने वाले नुकसानों से बचाती है।जो की झुर्रियां और उम्र बढ़ने के संकेतों को जन्म दे सकती है। Amy Shapiro, MS, RD, CDN, dietitian and founder of Real Nutrition कहते हैं की – Phycocyanin स्पाइरुलिना में मुख्य सक्रिय संघटक है, और यही इसके शैवाल को समृद्ध नीला-हरा रंग देता है। 

स्पिरुलिना में ग्लाइसिन (glycine) और प्रोलाइन (proline) सहित कई महत्वपूर्ण अमीनो एसिड (amino acids ) होते हैं, जो आपकी त्वचा को सख्त रखते हैं तथा शरीर के कोलेजन उत्पादन में सहायता करते हैं। 

Spirulina for collagen production and skin tightening In Hindi  

2019 के अध्ययन में दिए गए स्रोत से पता चलता है कि स्पिरुलिना Spirulina डर्मल फाइब्रोब्लास्ट कोशिकाओं (dermal fibroblast cells) में वृद्धि होने वाले कारकों को बढ़ा सकता है, जो कोलेजन बनाने के लिए जिम्मेदार कोशिकाएं होती हैं। 

और यह आपकी त्वचा के कसावट में योगदान दे सकता है।   

Spirulina for eliminating toxins in Hindi 

2006 में कीये गए एक पुराने अध्ययन के स्त्रोतों से पता चलता है की , Chronic Arsenic Poisoning वाले 41 रोगियों ने 16 सप्ताह तक रोजाना सुबह – शाम स्पिरुलिना अर्क और जस्ता लिया।  

अध्ययन के परिणामों में पाया गया कि स्पिरुलिना एक्सट्रेक्ट जिंक (spirulina extract plus zinc) ने उनके बालों में से 47.1% आर्सेनिक निकाल दिया। तो अंत में इस अध्ययन से हमें पता चलता है कि  Chronic Arsenic Poisoning के उपचार के लिए स्पाइरुलिना और जस्ता (Spirulina and Zinc) उपयोगी हो सकते हैं। 

Spirulina Benefits for skin conditions in Hindi 

यह हम बड़े दुर्भाग्य से कहते हैं कि स्पिरुलिना मुँहासे, सोरायसिस, एक्जिमा को कम करने तथा त्वचा के कसावट में मदद करता है। क्योंकि इस दावे का पूर्ण रूप से समर्थन करने के लिए हमारे पास बहुत सारे सबूतों की कमी है।   

हालांकि, “Spirulina में Antibacterial and Anti-inflammatory effects पाए गए हैं  जो संभावित रूप से मुँहासे (acne) और एक्जिमा (eczema) जैसी समस्याओं में लाभकारी साबित हो सकता है। लेकिन Hayag के अनुसार इसका और गहराई से अध्ययन करने की आवश्यकता है। 

Spirulina Benefits for Acne in Hindi 

2020 के एक अध्ययन से पता चलता है कि त्वचा पर स्पिरुलिना से युक्त क्रीम (cream containing spirulina) लगाने से इसके उच्च एंटीऑक्सिडेंट और रोगाणुरोधी प्रभावों (high antioxidant and antimicrobial effects) के कारण मुहाँसों के उपचार के लिए spirulina एक अच्छा विकल्प हो सकता है।  

एंटीबायोटिक चिकित्सा की तुलना में स्पिरुलिना एक बेहतर विकल्प हो सकता है। क्योंकि इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।   

Spirulina Benefits for Psoriasis in Hindi 

हमें 2020 में किए गए एक अध्ययन से पता चलता है कि स्पाइरुलिना (spirulina) ने चूहों में Psoriasis की समस्या को कम करने में मदद की है। अतः इस अध्ययन से पता चलता है कि स्पिरुलिना (spirulina) को सोरायसिस (Psoriasis) के उपचार के लिए एक प्राकृतिक दवा के रूप में विकसित किया जा सकता है। 

Spirulina Benefits for Eczema in Hindi 

हमें 2020  में किए गए एक अध्ययन से पता चलता है कि स्पिरुलिना (spirulina) का एक मरहम प्रभावित जगह पर 21 दिनों तक रोजाना दो बार लगाने से एक्जिमा (eczema) की समस्या में काफी सुधार करता है।  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *