जीवन भर स्वस्थ रहने के 20 चमत्कारी टिप्स | Best Tips for Healthy Life in Hindi

सुबह जल्दी उठना 

  • एक वैज्ञानिक शोध के द्वारा पता चला है कि जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं उनका दिमाग काफी तेज होता है।  
  • ये लोग शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होते हैं। 
  • सुबह जल्दी उठने से आपके शरीर में ऊर्जा की कमी नहीं होगी। 
  • सुबह के वातावरण में ऑक्सीजन लेवल काफी ज्यादा होता है, इसलिए इस समय खुले वातावरण में सैर करना आपके दिमाग के विकास के लिए काफी लाभकारी माना गया है। क्योंकि हमारे संपूर्ण शरीर के ऑक्सीजन का 20% हिस्सा अकेला दिमाग ही खर्च करता है। 
  • सुबह जल्दी उठने से  मानसिक विकार दूर होते हैं। 

सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करें 

  • सुबह सुबह आप व्यायाम, योग,तथा प्राणायाम का अभ्यास करें। 
  • व्यायाम करने से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। 
  • यदि आप सुबह के वक्त व्यायाम करते हैं तो इससे आपकी कैलोरी बर्न होती है जिससे मोटापे की समस्या से निजात पाया जा सकता है। 
  • इन सारी क्रियाओं के अभ्यास से आप भविष्य में आने वाली गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं। 
  • व्यायाम करने से आपके शरीर में रक्त का प्रवाह अच्छे से होता है जिसके फलस्वरूप आपकी त्वचा भी चमकदार बनती है। 

सुबह का नाश्ता समय पर लें 

  • आप चाहे कितने भी व्यस्त हो मगर अपना सुबह का भोजन बिल्कुल सही वक्त पर लें। 
  • कई वैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि अगर आप सुबह का भोजन समय पर नहीं करते हैं तो आपके पाचन तंत्र की क्रियाएं धीमी हो जाती है। 
  • यदि आप सुबह नाश्ता नहीं करते हैं तो आपको एसिड की समस्या हो सकती है। 
  • पाचन तंत्र के खराब होने पर आपको हृदय तथा दिमाग से सम्बन्धित समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती है। 
  • सुबह नाश्ता ना करने से आपको मोटापे की समस्या भी हो सकतीं है। 

संतुलित और पौष्टिक भोजन लें 

  • भोजन समय पर करने के साथ साथ आपको इस बात का भी ध्यान रखना है। क्या आपकी थाली में जो भोजन है वो बिलकुल स्वच्छ एवं पौष्टिक है?
  • जो खाद्य सामग्री डिब्बों में या पैकेटों में आती है, ऐसी सामग्रियों के सेवन से बचें। 
  • तली एवं बुनी हुई खाद्य सामग्रियों को अपनी डाइट से बाहर करें। 
  • आयुर्वेद में सफेद नमक, चीनी और मैदा को सफेद जहर कहा गया है। तो इनके सेवन से बच्चे है। क्योंकि इन खाद्य पदार्थों में  कैलोरी की अधिकता होती है, और पोषक तत्वों की कमी होती है। 
  • अपने जीवन में संतुलित भोजन को ही प्राथमिकता देने का प्रयास करें। 

नशीले पदार्थों के सेवन से दूर रहें 

  • यदि आपको भविष्य में स्वस्थ रहना है तो नशीले पदार्थों से दूरी बनाए रखें। 
  • यदि आप धूम्रपान करते हो तो आपको कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है 
  • अगर आप गुटका पान आदि का सेवन करते हैं तो आप स्वयं कैंसर को निमंत्रण दे रहे हैं। इसलिए आप इन नशीले पदार्थों का सेवन छोड़ दें। 
  • अगर आप शराब का सेवन करते हैं तो यह आपके शरीर में चार पांच दिनों तक रहती है और आपके शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती रहती है। जिसके फलस्वरूप आपका शरीर कमजोर एवं बीमार पड़ सकता है। 
  • इसलिए भलाई इसी बात में है की आप इन सभी मादक पदार्थों का सेवन तुरंत ही बंद कर दें। ताकि आपका आने वाला भविष्य खुशहाल बन सकें। 

छोटी मोटी बीमारी को नजरंदाज ना करें 

  • ऐसा कई बार होता है जब आपको कोई छोटी सी बीमारी होती है,और आप उसे नजरंदाज करते रहते हैं। ऐसा कभी भी का करें। 
  • आपको जिस वक़्त भी अपने शरीर में कोई असामान्य बदलाव दिखाई दे, तो तुरन्त डॉक्टर से संपर्क करें, और अपना इलाज कराएं। 
  • यदि आप अपने इलाज में तेरी करते हैं वो उससे आपकी बीमारी व उसका खर्च दोनों ही बढ़ जाते हैं। 
  • कैंसर एक ऐसी बीमारी है अगर उसका बता पहली व दूसरी स्टेज में कर लिया जाए तो उसका इलाज करना संभव है। यदि रोगी चौथी स्टेज में पहुँच जाता है तो उसका इलाज करना काफी मुश्किल हो जाता है। 
  • इसलिए हमारी आपको यही सलाह है कि आप अपनी किसी भी छोटी है बड़ी बीमारी को देखकर लापरवाही बिल्कुल ना करें। 

समय समय पर मेडिकल चेकअप करवाएं 

  • काफी लोगो का ऐसा मानना है कि यदि वे स्वस्थ दिखते हैं तो पूरी तरह से स्वस्थ हैं। इसलिए वे लोग अपने मेडिकल चेकअप करवाने को अतिरिक्त खर्चा मानते हैं। 
  • मगर हेल्थ चेकअप को पैसे की बर्बादी न मानते हुए अपना नियमित चेकअप करवाना सभी के लिए अनिवार्य है। 
  • हम मेडिकल चेकअप की बात पर ज़ोर देकर इसलिए कह रहे हैं क्योंकि  40 वर्ष के बाद आपके सिर के ऊपर बहुत सी बीमारियों का पहरा रहता है। इसलिए आपको 1 साल में एक बार मेडिकल चेकअप जरूर करवाना चाहिए। 

सही तरीके से बैठे 

  • वर्तमान समय में करीब करीब 25-30 प्रतिशत युवा ऐसे हैं जिनकी उम्र 17-35 वर्ष है, जिन्हें कमर दर्द व रीढ़ की हड्डी से सम्बंधित कोई समस्या है। और यह आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। 
  • आजकल इस प्रकार की समस्याएं होने का मुख्य कारण गलत तरीके से बैठना है। इसलिए अपनी कमर को सीधा करके बैठे। 
  • अगर आप लंबे समय तक किसी एक ही जगह पर बैठे रहते हैं तो उससे आपकी मांसपेशियां व रीढ़ की हड्डी पर काफी दबाव पड़ता है। जिसके फलस्वरूप धीरे धीरे आपकी मांसपेशियां एवं हड्डियां कमजोर होती रहती है।इसलिए आप इन समस्याओं से बचने के लिए बीच में पांच या 10 मिनट का ब्रेक ले सकते हैं, और दाएं बाएं थोड़ा चहल कदमी कर सकते हैं। 
  • यदि आप अपनी जीवन शैली में कोई सुधार नहीं करते हैं तो आपको स्लिप डिस्क, साइटिका, सर्वाइकल, जोड़ों का दर्द तथा गठिया जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ये समस्या है काफी पीड़ा दायक होती है। इसलिए इनसे बचने के लिए अपनी आदत को सुधारें। 
  • वर्तमान समय में हमारे देश के अंदर 3 लोगों में से एक व्यक्ति को रीढ़ की हड्डी से संबंधित समस्याएँ हैं। 

पानी ज्यादा पीएं 

  • हमारे शरीर में लगभग 60% पानी की मात्रा होती है। 
  • यदि आप शरीर में पानी की मात्रा का संतुलन बनाए रखते हैं तो आप बहुत सारी अनावश्यक बीमारियों से बच सकते हैं। 
  • प्रतिदिन कम से कम आपको दो या तीन लीटर पानी अवश्य पीना चाहिए। 
  • यदि आपके शरीर में पानी की कमी होती है तो आपको किडनी से संबंधित समस्याएं भी हो सकती है। 
  • पानी की कमी से आपको सरदर्द तथा कब्ज की समस्या हो सकती है। 

अपने वजन को नियंत्रण में रखें 

  • इस बात का ध्यान अवश्य रखें क्या आपका वजन आपकी लंबाई के अनुसार होना चाहिए। 
  • यदि किसी कारण से आपका वजन बढ़ एवं घट रहा है तो इस विषय पर विचार करें, तथा इस समस्या का समाधान करें। 
  • यदि आपको मोटापे की समस्या है तो भविष्य में आपको उच्च रक्तचाप, जोड़ों में दर्द, मधुमेह, हृदय सम्बन्धी समस्याएं, किडनी रोग,  सांस सम्बन्धी समस्याएं, तथा कैंसर आदि समस्याएं हो सकती है। 
  • इसलिए भविष्य में ऐसी खतरनाक बीमारियों से बचने के लिए आपको प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिए और संतुलित भोजन करना चाहिए। 

उपवास क्यों जरूरी है? 

  • उपवास से आपको आध्यात्मिक स्वास्थ्य के साथ साथ शारीरिक स्वास्थ्य की प्राप्ति होगी। 
  • आपको सप्ताह में एक बार उपवास अवश्य करना चाहिए। जिससे की आपके आंतरिक अंगों को विश्राम मिल सके। 
  • उपवास करने से आपके शरीर में स्थित हानिकारक बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं। 
  • उपवास करने से आपके शरीर में जमा अतिरिक्त वैसा कम होने लगती है। 
  • यदि आप अपनी जीवनशैली में उपवास को शामिल करते हैं तो आप भविष्य में होने वाली खतरनाक बीमारियों से भी बच सकते है। 

मानसिक तनाव से बचें 

  • अधिक तनाव लेने से आपके शरीर को शारीरिक तथा मानसिक दोनों प्रकार के कष्ट झेलने पड़ते हैं। 
  • तनाव से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक कम पड़ जाती है। 
  • अधिक तनाव लेने से आपके तंत्रिका तंत्र को बहुत गहरा नुकसान पहुंचता है। 
  • यदि आप लंबे समय तक तनाव में रहते हैं तो आपको हृदय सम्बंधित बीमारियां हो सकती है। 
  • उच्च एवं है निम्न रक्तचाप इस समस्याएं भी तनाव के कारण ही पैदा होती है। 
  • इससे आपका पाचन तंत्र भी कमजोर हो जाता है। 
  • इसलिए आपको तनाव से बचना चाहिए। 

इलेक्ट्रॉनिक सामानों का इस्तेमाल कम करें 

  • वैज्ञानिक के अनुसार पता चलता है कि यदि आप प्रतिदिन 4 घंटे से ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं तो आपको काफी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। 
  • यदि आप लंबे समय तक यही आदत अपनाएं रखते हैं तो आपको भविष्य में हृदय समस्या हो सकती है। 
  • ऐसा करने से आपके बीमार होने की संभावना 50% तक बढ़ जाती है। 
  • ऐसे उपकरणों के लंबे समय उपयोग करने से तनाव तथा डिप्रेशन जैसी समस्याएं पैदा हुई है। 
  • इनके इस्तेमाल से आपके अंदर आक्रामकता बढ़ सकती है। 

रात को हेडफोन्स ने लगाए 

  • प्रकृति ने हमारे लिए दिन को काम करने तथा रात को आराम करने के लिए बनाया है। इसलिए आपको प्रकृति के नियमों का पालन करना चाहिए। 
  • रात को सोने के लिए आपको शांत वातावरण की आवश्यकता होती है इसलिए ये उस वक्त अपने कानों में किसी प्रकार केहेड फोन्स का इस्तेमाल ना करें। 
  • यदि आप रात को हेडफोन्स का इस्तेमाल करते हैं तो आपके आराम करने का समय बाधित होता है। 
  • यदि आप इन क्रियाओं को लंबे समय तक करते हैं तो आपको काफी खतरनाक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 
  • इसके फलस्वरूप आपको दिन में आलस आता है तथा सोने का मन करता है। 
  • इससे आपके व्यवहार में चिड़चिड़ापन आता है। 
  • इसलिए आपको अपने दैनिक जीवन में ऐसी गलत आदतों से बचना चाहिए। 

पेशाब कभी ना रोकें 

  • यदि आपके साथ प्रेशर को रोकते हैं तो आपको किडनी की समस्या हो सकती है। 
  • यदि आप ऐसा बार बार करते हैं तो आपको पेशाब की थैली में तथा पेशाब की नली में सूजन आ सकती है, जिसके फलस्वरूप आपको अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 
  • इसी कारण से आपको पथरी की समस्या भी हो सकती है। 
  • अगर आप इसी आदत को लंबे समय तक अपनाएं रखते हैं, तो इससे आपके शरीर में संक्रमण हो सकता है। 
  • इसीलिए आपको वे साहब कभी भी नहीं रोकना चाहिए। 
  • अगर आप समय पर पेशाब करते हैं तो आप अनावश्यक बीमारियों से भी बच सकते हैं। इसलिए इन छोटी छोटी आदतों को अपने दैनिक जीवन में शामिल करें। 

खराब सप्लीमेंट का सेवन ना करें 

  • वर्तमान समय में सोशल मीडिया के कारण है युवाओं में बॉडी बिल्डिंग का काफी ट्रेंड चला हुआ है इन इन्हीं को देखते हुए बाजार में ऐसे बहुत से सप्लीमेंट्स है, जो गुणवत्ता में है काफी कमजोर तथा विग्यापनों में काफी मजबूत है। 
  • निम्न गुणवत्ता के सप्लिमेंट्स आपके शरीर को बहुत बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं। जिसके फलस्वरूप आप किसी गंभीर बीमारी का शिकार बन सकते हैं। 
  • बाजार में वजन बढ़ाने तथा वजन कम करने के बहुत से उत्पाद उपलब्ध है। इसलिए यदि आप कभी भी इस प्रकार के उत्पाद खरीद रहे हैं, तो उस उत्पाद वो है उसके उत्पादक कंपनी की अच्छे से जांच करें। 
  • हम आपको ऐसा इसलिए बता रहे हैं क्योंकि अगर आप गलती से भी किसी गलत सप्लीमेंट का चुनाव कर लेते हैं तो आपको भविष्य में आपको गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। 
  • गलत सप्लिमेंट लेने से आपकी जान भी जोखिम में पड़ सकती है। 
  • इस प्रकार के प्रोडक्ट्स का सेवन करने से पहले आपको किसी एक्सपर्ट से विचार विमर्श अवश्य करना चाहिए। 

कैफीन का सेवन कम करें 

  • यदि आप चाय कॉफी का सेवन करते हैं, तो 1 दिन में वो कब से ज्यादा ना पिए। 
  • कैफीन के अधिक सेवन से पाचन तंत्र कमजोर होता है। 
  • इसके अधिक सेवन से आपको अनिद्रा इस समस्या भी हो सकती है। 
  • कैफीन का अधिक सेवन करने से आपका व्यवहार चिड़चिड़ा हो सकता है। 
  • इसके सेवन से आपकी मांसपेशियों में भी दर्द हो सकता है। 
  • इसलिए हम आपको अपने दैनिक जीवन में कैफीन के सेवन को कम करने की सलाह देते हैं ताकि आपसवस्थ रह सकें। 

अधिक भोजन ना करें 

  • यदि आप अधिक भोजन करते हैं तो आपको पेट से संबंधित समस्याएं हो सकती है। 
  • यदि आप दिन में बार-बार भोजन करते हैं और भोजन अधिक मात्रा में खाते है तो उसे ओवर ईटिंग कहा जाता है।
  • यदि आप इस आदत को नहीं छोड़ते है तो आपका वजन काफी बढ़ सकता है, जिसके फलस्वरूप आपको किडनी, लिवर से संबंधित बीमारियां हो सकती है। 
  • इसलिए हम आपको इन खतरनाक बीमारियों से बचने के लिए बता रहे है कि आप दैनिक जीवन में संतुलित भोजन का ही सेवन करें। 

प्रतिदिन समय पर सोएं 

  • वैज्ञानिकों के रिसर्च के अनुसार जो व्यक्ति रात को देर से सोते हैं, उनके दिमाग पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। 
  • रिसर्च में पाया गया है कि उनके सामान्य व्यवहार में काफी बदलाव पाया गया है। 
  • यदि आप रात को देर से सोते हैं, तो आपको तनाव और डिप्रेशन होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। 
  • इससे आपके मस्तिष्क में एंडोर्फिन नामक हार्मोन का स्राव नहीं हो पाता जिससे आपके व्यवहार में चिड़चिड़ापन आ सकता है। 
  • इस आदत से आपकी याद रखने की क्षमता भी कम हो जाती है। 
  • देर रात सोने से आपकी मासपेशियां कमजोर होने लगती है। 
  • इसलिए आपको समय पर सोना चाहिए। क्योंकि इससे आपका संपूर्ण स्वास्थ्य प्रभावित होता है। 

रोजाना 7-8 घंटे नींद लें 

  • यदि आप अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो प्रतिदिन 7-8 घंटे नींद लेना अनिवार्य है। 
  • अगर आप 7 घंटे से कम सोते हैं तो आपको धीरे धीरे पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती है। 
  • नींद पूरी न होने से आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। 
  • अगर आप 6 घंटे से कम सोते हैं तो आपको अनिद्रा, अल्सर, तथा उच्च रक्तचाप जैसी समस्याएं हो सकती है। 
  • यदि आप लंबे समय तक इसी आदत के शिकार रहते हैं तो आपको कैंसर तथा मधुमेह जैसे खतरनाक रोग हो सकते हैं। 
  • आपकी नींद पूरी न होने से आपको मानसिक बीमारियों का भी सामना करना पड़ सकता है। 
  • इन समस्याओं से बचने के लिए आपको जरूरत है प्रतिदिन 7-8 घंटे की गहरी नींद लेना। जिससे की आपकी शारीरिक तथा मानसिक थकान दूर हो सके, और आपके शरीर के अंदर नई ऊर्जा का संचार हो सके। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *