जानिए अमरूद के फायदे और 24 घरेलू नुस्खे

अमरूद का परिचय एंवम अमरूद के फायदे (amrud ke fayde)

Contents

अमरूद के फायदे (amrud ke fayde) इतने अधिक होते हैं कि आप सोच भी नहीं सकते कि, यह सामान्य दिखने वाला फल आपके स्वास्थ्य के लिए इतना हितकर हो सकता है।

क्योंकि यह शरीर को शक्ति और स्फूर्ति देने वाला तथा रोगों को मिटाने वाला फल है। इसकी तासीर ठंडी होती है इसलिए यह शरीर की गरमी कम करता है।

यह आपके हृदय, और मस्तिष्क को ऊर्जा प्रदान करता है।

अमरूद का स्वाद खट्टा, मीठा होता है। इसका स्वाद अच्छा होने के साथ – साथ यह  औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है।

इसे खूब चबा-चबाकर एंवम कम मात्रा में खाना चाहिए। क्योंकि इससे पेट साफ हो जाता है। तथा रक्त और आंतों की शुद्धि हो जाती है।

हमारे संपूर्ण भारत में अमरूद का पेड़ (amrud ke fayde) लगभग हर राज्य में पाया जाता है।

अमरूद के अन्य नाम

  • English: guava 
  • Hindi: अमरूद (Amrud), जामफल
  • Sanskrit : दृढबीजम्, मृदुफलम्, अमृतफलम् 
  • Urdu : अमरूद (Amrud)

Nutrition Facts of Guava ( अमरूद )

कैलोरी – 112

फैट – 1.6 ग्राम

प्रोटीन – 4.2 ग्राम

फाइबर – 8.9 ग्राम

कार्बोहाइड्रट- 23 ग्राम

शुगर – 14.8 ग्राम

सोडियम – 3.3 Mg

अमरूद के फायदे (amrud ke fayde) तथा अमरूद के 24 घरेलू नुस्खे

आइए जानते हैं अमरूद के कुछ महत्वपूर्ण घरेलू नुस्खे

1.गठिया में लाभकारी  (Guava Benefits For Arthritis in Hindi)

अमरूद (guava benefits in hindi )  कि हरी कोमल पत्तियों को पीसकर गठिया के दर्द वाली जगह पर अच्छे से लेप करने से दर्द में काफी लाभ होता है।

2.थायराइड में अमरूद के फायदे

वैसे देखा जाये तो थायराइड कोई बीमारी नहीं होती है, ये तो एक ग्रंथि होती है जो सभी के गले में स्थित होती है, यह हमारे मेटाबॉलिज्म को सही रखती है और खाने को ऊर्जा में बदलती है।

इसके साथ यह ग्रंथि हार्मोन का भी स्त्राव करती है। जब इन हॉर्मोनस का संतुलन बिगड़ जाता है, तो उसे थाइराइड कहा जाता है।

अमरूद का सेवन थाइराइड में बहुत फायदेमंद होता है, क्योंकि अमरूद में कॉपर पाया जाता  है, और कॉपर थाइराइड में बहुत महत्वपूर्ण होता है।

इसीलिए यदि आपको थायराइड है और आप इसे संतुलित रखना चाहते हैं तो अमरूद का  सेवन रोजाना करें।

3.मुंह के छाले

अमरूद के हरे पत्तों को कत्थे के साथ पान की तरह चबा-चबाकर खाने से आपके मुंह के छाले सही हो सकते हैं।

4.दांत का दर्द

सबसे पहले अमरूद के पत्तों को पानी में अच्छी तरह उबालें, इसके बाद उस पानी में गुलाबी फिटकरी मिलाकर अच्छे से कुल्ले करें।

इस नुस्खे से आपके दांतों का दर्द दूर हो जाता है।

दांतों के साथ ही मसूढों के लिए भी अमरूद बेहद फायदेमंद होता है।

5.रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करता है

Vitamin -C हमारे शरीर में रोगों से लडऩे की क्षमता को मजबूत बनाता है। और अमरूद के अंदर संतरे के मुकाबले चार गुणा अधिक Vitamin -C होता है।

इसीलिए इसके सेवन से खाँसी, जुकाम जैसी बीमारियों से आपका बचाव रहता है। 

6. बवासीर ( Piles )

अमरूद (amrud ke fayde) के 10 ग्राम छिलके लें और इन्हें डेढ़ सौ ग्राम पानी में पूरी रात भिगो कर रख दें।

सुबह इस पानी को आग पर इतना उबालें कि उसका 20% हिस्सा बच जाए। इसके पश्चात उसे छानकर रोगी को पिलाएं।

कुछ दिनों तक नियमित रूप से इस नुस्खे का प्रयोग करने से खूनी बवासीर में आराम हो जाता है।

7. खांसी और जुकाम

अमरूद को आग में अच्छे से भूनकर थोड़ा नमक मिलाकर खाएं इससे आपको खांसी

और जुकाम में काफी लाभ होगा

8. हृदय ( Heart )

रोजाना अमरूद के सेवन से आपका हृदय शक्तिशाली होता है। इसलिए जिनका ह्रदय कमजोर है उन्हें इसका सेवन संतुलित मात्रा में रोज करना चाहिए।

और अमरूद खाने से आपकि प्यास भी खत्म होती है।

9. रक्तचाप को नियंत्रित करना

अमरूद के अंदर मौजूद फाइबर और पोटाशियम आपके रक्त में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित  करने मे काफी सहायक है।

इसके सेवन से आपके दिल की धड़कन एंवम रक्तचाप नियमित और संतुलित रहते हैं। 

10. कैंसर से बचाव करना

अमरूद में antioxidant and lycopin अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो कि आपके शरीर में  में कैंसर कि कोशिकाओं को बढऩे से रोकता है।

इसीलिए इसका नियमित सेवन आपको कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचा सकता है  

11. त्वचा संबंधी विकारों में अमरूद के फायदे

अमरूद के अंदर Vitamins and Minerals प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके सेवन से आपकि त्वचा को भरपूर पोषण मिलता है तथा आपकि त्वचा स्वस्थ बनी रहेगी।

अमरूद में antioxidant properties होने के कारण ये आपके शरीर में मौजूद Free-r adicals से लड़ता है।

और ये आपके शरीर से दूषित पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है जिससे आपकि त्वचा अंदर से भी साफ एंवम स्वस्थ रहती हैं।

12. एंटी एजिंग होता है

अमरूद में Anti-aging properties होती हैं। इसीलिए यह आपकि त्वचा कि मृत कोशिकाओं कि मरम्मत कर पुनः स्वस्थ बना देता है।  

जिसके फलस्वरूप आपकि त्वचा पर जल्दी से झुर्रियाँ एंवम झाइयाँ भी नहीं पड़ती हैं।

13. पित्त संबंधी विकार

सबसे पहले आप अमरूद के बीजों का चूर्ण बनाएं। उसके बाद आप 5 ग्राम चूर्ण में थोड़ा  गुलाबजल तथा मिश्री मिलाएं।

फिर इसका सेवन करें, इस नुस्खे के प्रयोग से पित्त संबंधी विकार सही होते हैं।

14. हैजा के लिए अमरूद के फायदे

अमरूद की छाल का काढ़ा पिलाने से हैजे के रोगी को थोड़ा लाभ मिलता है। ध्यान रहे कि यह नुस्खा केवल रोगी को अस्पताल तक ले जाने के बीच का उपचार मात्र है।

15. अधिक नशा होना

यदि किसी को भांग, गांजा, चरस, और अफीम आदि का नशा अधिक चढ़ गया है तो उसे  उतारने के लिए अमरूद का खाएं काफी लाभकारी होगा।

16. आंखों के लिए अमरूद के फायदे

Vitamin – a आपकि आंखों को स्वस्थ बनाए रखने में बहुत उपयोगी होता है।

अमरूद में पाए जाने वाले गुणकारी पोषक तत्व आँखों में मोतियाबंद बनने की संभावना को कम करते है।

इसके नियमित सेवन करने से आपकि कमजोर आंखों की रोशनी भी बढ़ जाएगी। 

17. मस्तिष्क की गर्मी

एक अच्छे से साफ अमरूद को पूरी रात पानी में भिगो कर रख दें। उसके बाद सुबह होते ही  खाली पेट अमरूद को खूब चबा-चबा कर खाएं।

इस नुस्खे से आपके मस्तिष्क की गर्मी दूर होती है।

जिसके फलस्वरूप आपके मस्तिष्क में किसी भी प्रकार के रोग उत्पन्न नहीं होंगे।

18. पेट दर्द

अमरूद की ताजा 5-7 कोमल पत्तियों को पानी में पीसकर पीने से पेट दर्द में बहुत जल्दी  आराम होता है।

19. अतिसार

अमरूद के पेड़ की जड़ का चूर्ण बना लें, क्योंकि इस चूर्ण के सेवन से अतिसार कि समस्या  ठीक होती है।

20. कब्ज में अमरूद के फायदे

अमरूद के सेवन से आपकि आंतों में नमी आती है इसीलिए यह कब्ज को दूर करता है।

इसे खाना खाने से पहले खाना चाहिए।

और पुराने कब्ज से पीड़ित रोगी को इसे सुबह-शाम नियमित रूप से खाना चाहिए।  

21. आंतों के घाव

यदि आपकि आंतों में घाव हैं तो आपको रोज अमरूद खाने चाहिए।

क्योंकि इसमें पाया जाने वाला टेनिक एसिड सभी प्रकार के घावों को भरने में सहायक होता है।

22. डायबिटीज (शुगर)

अमरूद के अंदर पाया जाने वाला फाइबर डायबिटीज ( शुगर ) को नियंत्रित करने में बहुत सहायक होता है।

क्योंकि यह रोगी के शरीर में शर्करा की मात्रा को संतुलित तरीके से अवशोषित करने का कार्य करता है।

23. तनाव दूर करना



अमरूद में पाया जाने वाला मैग्निशियम तत्व आपके तनाव बढ़ाने वाले हार्मोंस को नियंत्रित करने का भी कार्य करता है।

यदि आपको पूरे दिन भर की थकावट दूर करनी है तो अमरूद अवश्य खाएं। क्योंकि इससे आपको मानसिक रूप से थकान महसूस नहीं होती।
 

24. सांसों एंवम मुंह कि दुर्गंध

यदि आपकि सांसों और मुंह में दुर्गंध आती है, तो आपको अमरूद की कोमल पत्तियों को रोज चबाना चाहिए। जिसके फलस्वरूप आपकि दुर्गंध कि समस्या दूर हो जाएगी।

नोट : यदि आप अमरूद का औषधीय उपयोग करना चाहते हैं तो इसके प्रयोग से पहले किसी योग्य आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह अवश्य लें और चिकित्सक के निर्देशानुसार ही इसका उपयोग करें।          

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *